वो सुबह कब आयेगी…

वो सुबह बहोत जल्द आएगी
जब स्त्री, स्त्री को समझ कर उसे साथ लेकर चलेगी….

वो सुबह बहोत जल्द आएगी
जब स्त्री, मां बनकर बेटो को दूसरी स्त्री की गरिमा को संभालना सिखाए….

वो सुबह बहोत जल्द आएगी
जब लड़की को घर से बाहर जाना है तो
जितनी सलाह देते है, टोकते है….
ठीक वैसे ही लड़का भी घर से निकलता है तो उसे भी सलाह दे, टोके…
लड़की को संस्कारित करने में कसर नहीं छोड़ते वैसे ही लडको को भी स्मार्ट,हैंडसम,हिम्मतवाला बनाओ मगर संस्कारो के साथ….
फिर देखो वो सुबह कितनी जल्द आती है हमारे दहलीज पर…..

Create your website with WordPress.com
Get started